NCERT Solutions for Class 7 Hindi Chapter 2 – सबसे सुंदर लड़की

Page No 9:

Question 1:

(क) हर्ष और कनक छोटे होने पर भी समुद्र की लहरों में कैसे तैर सकते थे?

(ख) हर्ष का पिता क्या काम करता था?

(ग) कनक छोटे-छोटे शंखों की मालाएँ बनाकर क्यों बेचती थी?

(घ) मंजरी को कनक क्यों नहीं भाती थी?

(ङ) मंजरी ने कनक को अपना खिलौना क्यों दे दिया?

Answer:

(क) हर्ष और कनक को तैरने का कई वर्षों का अनुभव था इसलिए वे समुद्र की लहरों में तैर सकते थे। बिना अभ्यास के मनुष्य के लिए लहरों में तैर पाना संभव नहीं होता है। लेकिन किसी मनुष्य को तैरने का अभ्यास तथा अनुभव है तो वह चाहे उम्र में छोटा हो या बड़ा सरलतापूर्वक समुद्र में तैर सकता है।

(ख) हर्ष के पिता एक कलाकार थे। वह समुद्र से विभिन तरह की सीपियाँ रंग-बिरंगी कौड़ियाँ, सुंदर शंख, चित्र-विचित्र पत्थर और बहुत तरह की अन्य वस्तुएँ लाते थे। उनसे वे विभिन्न तरह के खिलौने बनाते थे।

(ग) कनक अपनी माताजी का हाथ बाँटने के लिए शंख की मालाएँ बनाकर बेचती थी। उसके पिता की मृत्यु हो चुकी थी और माताजी मछलियाँ बेचकर घर चलाती थी। मछलियाँ बेचने से उन्हें अधिक आय नहीं होती थी। कनक शंख मालाएँ बनाकर तथा उन्हें बेचकर उनकी सहायता करने का प्रयास करती थी।

(घ) कनक तैरने में कुशल थी और इसी कारण वह हर्ष के साथ समुद्र में दूर तक निकल जाती थी। मंजरी अच्छी तैराक नहीं थी। हर्ष के साथ कनक को समुद्र में तैरते देखना मंजरी को अच्छा नहीं लगता था। वह स्वयं हर्ष के साथ कनक के समान तैरना चाहती थी। इसलिए वह कनक को पसंद नहीं करती थी।

(ङ) कनक ने मंजरी की जान बचाई थी। यदि कनक नहीं होती तो आज वह भी जीवित नहीं होती। उसकी नजरों में कनक दुनिया की सबसे सुंदर और अच्छी लड़की थी इसलिए मंजरी ने कनक को अपना खिलौना दिया था। इस तरह वह कनक के प्रति अपना धन्यवाद प्रकट करना चाहती थी।

Question 1:

(क) लहरें उछलती हैं। वे कूदती भी हैं।

(ख) सब बच्चे हँसते हैं। वे खेलते भी हैं।

(ग) मेरी माँ पढ़ना जानती है। वह लिखना भी जानती हैं।

Answer:

(क) लहरें उछलती-कूदती हैं।

(ख) सब बच्चे हँसते-खेलते हैं।

(ग) मेरी माँ पढ़ना-लिखना जानती हैं।

Question 1:

दूध जैसा

……….

हाथी जैसा

……….

रात जैसा

……….

रूई जैसा

……….

चीनी जैसा

……….

Answer:

दूध जैसा

सफ़ेद

हाथी जैसा

विशाल

रात जैसा

काला

रूई जैसा

मुलायम

चीनी जैसा

मीठा

Page No 10:

Question 1:

नीचे कुछ शब्द लिखे हैं। उन्हें उचित खाने में लिखो।

कनक

मंजरी

 

Answer:

कनक

मंजरी

दयालु

डरपोक

साहसी

ईर्ष्यालु

गरीब

अमीर

समझदार

लालची

अच्छी

लापरवाह

मेहनती

मूर्ख

मनमौजी

आलसी

सुंदर

 

Question 1:

मंजरी बिलकुल गुड़िया जैसी सुंदर थी। तुम्हें सबसे सुंदर कौन लगती/लगता है? क्यों?

Answer:

मंजरी बिलकुल गुड़िया जैसी सुंदर थी। परन्तु हमें कनक सबसे सुंदर लगती है। इसके पीछे यह कारण है कि कनक, मंजरी के समान सुंदर नहीं थी। परन्तु हृदय से वह बहुत सुंदर थी। उसे किसी से ईर्ष्या नहीं थी, वह मेहनती थी, अपनी माताजी की बहुत सहायता करती थी, वह बहादुर और निस्वार्थ लड़की थी। मंजरी की जान बचाते हुए उसने अपने प्राणों की भी चिंता नहीं की थी। अत: वही सबसे सुंदर थी। उसके गुण बहुत अच्छे थे। मंजरी में इन गुणों का अभाव था।

Question 1:

(क) “वह बेचारी थी बड़ी गरीब।”

लोग आमतौर पर गरीबों को बेचारा और असहाय क्यों मानते हैं? कहानी में कनक को बेचारी कहा गया है जबकि वह निडर और दूसरों की सहायता करने वाली लड़की थी। दूसरी ओर मंजरी गरीब नहीं थी पर ईर्ष्यालु और डरपोक थी। तुम्हारे विचार से असली गरीब कौन है?

(ख) तुमने अपने आस-पास अमीर और गरीब, दोनों तरह के लोग देखे होंगे। तुम्हारे विचार से गरीबी के क्या कारण हो सकते हैं?

(ग) अमीरी और गरीबी के अंतर को कैसे दूर किया जा सकता है? कुछ उपाय सुझाओ।

Answer:

(क) हमारे विचार से असली गरीब मंजरी थी। जो मनुष्य असहाय और डरपोक होता है, वह गरीब कहलाता है। जिसको स्वयं की रक्षा के लिए दूसरों पर निर्भर होना पड़े सही मायनों में वही व्यक्ति गरीब है। मंजरी को स्वयं पर अभिमान था परन्तु जब वह लहरों की चपेट में आई तब उसका अभिमान चूर हो गया। अतः वही असली में गरीब कहलाएगी।

(ख) हमारे विचार से अशिक्षा तथा धन का अभाव गरीबी के सबसे बड़े कारण हैं। मनुष्य अशिक्षित होता है, तो उसे अच्छी नौकरी नहीं मिलती। इस कारण उसे मजदूरी करनी पड़ती है। मजदूरी से बहुत कम पैसे मिलते हैं इसलिए धन का अभाव बना रहता है। यही कारण हैं कि मनुष्य गरीब रहता है।

(ग) अमीरी और गरीबी के अंतर को इस प्रकार से दूर किया जा सकता है-

(1) शिक्षा का प्रसार होना चाहिए।

(2) सरकार को देश में गरीबों के उत्थान के लिए ज़रुरी कदम उठाने चाहिए।

(3) गरीबों के वेतन में वृद्धि करनी चाहिए।

(4) अमीरों से अधिक कर लेना चाहिए।

(5) सरकार को चाहिए कि ऐसे प्रयास करे जिससे गरीबों के बच्चों को अच्छे विद्यालयों में शिक्षा प्राप्त करने का अधिकार प्राप्त हो।

Question 1:

(क) क्या तुम्हारा जन्मदिन मनाया जाता है?

(ख) तुम्हारे कितने दोस्तों और संबंधियों का जन्मदिन मनाया जाता है और कितनों का नहीं मनाया जाता?

Answer:

(क) हाँ मेरा जन्मदिन मनाया जाता है।

(ख) मेरे भईया, दीदी, मित्रों इत्यादि का जन्मदिन मनाया जाता है।

मेरे माता-पिताजी, दादा-दादी, नानी-नानी का जन्मदिन नहीं मनाया जाता है।

(नोट: विद्यार्थी इन प्रश्नों का उत्तर अपने व्यक्तिगत अनुभवों द्वारा देने का प्रयास करें।)

Page No 11:

Question 1:

(क) हर्ष का पिता समुद्र के किनारे रहता था। वह तरह-तरह के खिलौने एवं मालाएँ तैयार कर पास के बड़े नगर में बेच आता था। तुम अपने आस-पास के कुछ ऐसे ही लोगों के बारे में जानकारी प्राप्त करो। वे किन-किन चीजों से क्या-क्या बनाते हैं?

(ख) समुद्र से सीपी, कौड़ी, शंख, पत्थर आदि प्राप्त होते हैं। पता करो उससे और क्या-क्या चीज़ें प्राप्त होती हैं जो मनुष्य के लिए उपयोगी हैं? इसकी एक सूची बनाओ।

(ग) हर्ष और कनक ने मंजरी को समुद्र से निकाला। इसके बाद उन्होंने मंजरी को प्राथमिक उपचार दिया। पता करो तुम कौन से प्राथमिक उपचार करोगे, यदि

– किसी का हाथ गर्म चीज़ से जल जाए

– पैर में काँच घुस जाए

– कोई ज़हरीला जंतु काट ले

Answer:

(क) 1. कुम्हार मिट्टी से कई प्रकार के घड़े, खिलौने, फूलदान, प्याले इत्यादि बनाते हैं।

2. एक आंटी पुराने कपड़ों से विभिन्न तरह के सुन्दर गलीचे, बैग और पायदान बनाती हैं।

3. एक भईया पुरानी चूड़ियों के प्रयोग से सुंदर सजाने की वस्तुएँ बनाते हैं।

(नोट: बच्चे अपने आस-पास पता करें और दी गई जानकारी में स्वयं भी कुछ जोड़ें।)

(ख) 1. नमक – यह खाना बनाने के काम आता है।

2. मोती – यह आभूषण बनाने और औषधि बनाने के काम आता है।

3. पेट्रोल – यह एक तरल पदार्थ हैं जो विभिन्न प्रकार के वाहनों को चलाने के काम आता है।

4. मछलियाँ – यह घर में रखने और खाने के काम आती है।

5. समुद्री मूंगा –  यह मछली घर में सजाने के काम आता है।

(ग) 1. किसी का हाथ गर्म चीज़ से जल जाए – बर्फ़ मलेगें या फिर ठंडे पानी के नीचे हाथ रख देगें। जल्दी से बरनाल मलहम लगाएँगें। इसके बाद तुरंत डॉक्टर के पास जाएँगे।

2. पैर में काँच घुस जाए – उसे किसी कुर्सी पर बैठाकर काँच निकालने का प्रयास करेंगे। काँच निकालने के बाद घाव को डेटॉल लगाकर साफ़ करेगें। उसके बाद उसमें मलहम लगाकर पट्टी कर देगें यदि इसके बाद भी खून नहीं रुकेगा तो डॉक्टर के पास ले जाएँगे। टिटनेस का इंजेक्शन अवश्य लगवाएँगे।

3. कोई जहरीला जंतु काट ले – उस स्थान को साबुन से अच्छी तरह धोएँगें और घाव को ढक देगें। तुरन्त डॉक्टर के पास ले जाकर रेबिस का इंजेक्शन लगवाएँगें।

Question 1:

भारत के मानचित्र को देखो। भारत तीन दिशाओं से समुद्र से घिरा है। उन तीनों दिशाओं के नाम मानचित्र में भरो। समुद्र के पास वाले राज्यों के नाम भी भरो।

Answer:

Question 1:

‘उसके पिता एक सुंदर-सा खिलौना बनाने में लगे हैं।’इस वाक्य में ‘सुंदर-सा’ लगाकर वाक्य बनाया गया है। तुम भी साधारण, बड़ा, छोटा, लंबा, गोल, चौकोर और त्रिकोण शब्द में सा, से या सी का प्रयोग कर वाक्य बनाओ।

Answer:

(क) साधारण- मेरा घर साधारण-सा है।

(ख) बड़ा- मुझे बड़ा-सा पिज़ा खाना है।

(ग) लंबा- मुझे लंबा-सा भूत दिखा।

(घ) गोल- मेरे पास गोल-सा छल्ला है।

(ङ) चौकोर- मुझे चौकोर-सी आकृति बनानी है।

(च) त्रिकोण- त्रिकोण-से कागज़ काटने हैं।

(छ) छोटा- मेरा घर छोटा-सा है।

 

Page No 9:

Question 1:

(क) हर्ष और कनक छोटे होने पर भी समुद्र की लहरों में कैसे तैर सकते थे?

(ख) हर्ष का पिता क्या काम करता था?

(ग) कनक छोटे-छोटे शंखों की मालाएँ बनाकर क्यों बेचती थी?

(घ) मंजरी को कनक क्यों नहीं भाती थी?

(ङ) मंजरी ने कनक को अपना खिलौना क्यों दे दिया?

Answer:

(क) हर्ष और कनक को तैरने का कई वर्षों का अनुभव था इसलिए वे समुद्र की लहरों में तैर सकते थे। बिना अभ्यास के मनुष्य के लिए लहरों में तैर पाना संभव नहीं होता है। लेकिन किसी मनुष्य को तैरने का अभ्यास तथा अनुभव है तो वह चाहे उम्र में छोटा हो या बड़ा सरलतापूर्वक समुद्र में तैर सकता है।

(ख) हर्ष के पिता एक कलाकार थे। वह समुद्र से विभिन तरह की सीपियाँ रंग-बिरंगी कौड़ियाँ, सुंदर शंख, चित्र-विचित्र पत्थर और बहुत तरह की अन्य वस्तुएँ लाते थे। उनसे वे विभिन्न तरह के खिलौने बनाते थे।

(ग) कनक अपनी माताजी का हाथ बाँटने के लिए शंख की मालाएँ बनाकर बेचती थी। उसके पिता की मृत्यु हो चुकी थी और माताजी मछलियाँ बेचकर घर चलाती थी। मछलियाँ बेचने से उन्हें अधिक आय नहीं होती थी। कनक शंख मालाएँ बनाकर तथा उन्हें बेचकर उनकी सहायता करने का प्रयास करती थी।

(घ) कनक तैरने में कुशल थी और इसी कारण वह हर्ष के साथ समुद्र में दूर तक निकल जाती थी। मंजरी अच्छी तैराक नहीं थी। हर्ष के साथ कनक को समुद्र में तैरते देखना मंजरी को अच्छा नहीं लगता था। वह स्वयं हर्ष के साथ कनक के समान तैरना चाहती थी। इसलिए वह कनक को पसंद नहीं करती थी।

(ङ) कनक ने मंजरी की जान बचाई थी। यदि कनक नहीं होती तो आज वह भी जीवित नहीं होती। उसकी नजरों में कनक दुनिया की सबसे सुंदर और अच्छी लड़की थी इसलिए मंजरी ने कनक को अपना खिलौना दिया था। इस तरह वह कनक के प्रति अपना धन्यवाद प्रकट करना चाहती थी।

Question 1:

(क) लहरें उछलती हैं। वे कूदती भी हैं।

(ख) सब बच्चे हँसते हैं। वे खेलते भी हैं।

(ग) मेरी माँ पढ़ना जानती है। वह लिखना भी जानती हैं।

Answer:

(क) लहरें उछलती-कूदती हैं।

(ख) सब बच्चे हँसते-खेलते हैं।

(ग) मेरी माँ पढ़ना-लिखना जानती हैं।

Question 1:

दूध जैसा

……….

हाथी जैसा

……….

रात जैसा

……….

रूई जैसा

……….

चीनी जैसा

……….

Answer:

दूध जैसा

सफ़ेद

हाथी जैसा

विशाल

रात जैसा

काला

रूई जैसा

मुलायम

चीनी जैसा

मीठा

Page No 10:

Question 1:

नीचे कुछ शब्द लिखे हैं। उन्हें उचित खाने में लिखो।

कनक

मंजरी

 

Answer:

कनक

मंजरी

दयालु

डरपोक

साहसी

ईर्ष्यालु

गरीब

अमीर

समझदार

लालची

अच्छी

लापरवाह

मेहनती

मूर्ख

मनमौजी

आलसी

सुंदर

 

Question 1:

मंजरी बिलकुल गुड़िया जैसी सुंदर थी। तुम्हें सबसे सुंदर कौन लगती/लगता है? क्यों?

Answer:

मंजरी बिलकुल गुड़िया जैसी सुंदर थी। परन्तु हमें कनक सबसे सुंदर लगती है। इसके पीछे यह कारण है कि कनक, मंजरी के समान सुंदर नहीं थी। परन्तु हृदय से वह बहुत सुंदर थी। उसे किसी से ईर्ष्या नहीं थी, वह मेहनती थी, अपनी माताजी की बहुत सहायता करती थी, वह बहादुर और निस्वार्थ लड़की थी। मंजरी की जान बचाते हुए उसने अपने प्राणों की भी चिंता नहीं की थी। अत: वही सबसे सुंदर थी। उसके गुण बहुत अच्छे थे। मंजरी में इन गुणों का अभाव था।

Question 1:

(क) “वह बेचारी थी बड़ी गरीब।”

लोग आमतौर पर गरीबों को बेचारा और असहाय क्यों मानते हैं? कहानी में कनक को बेचारी कहा गया है जबकि वह निडर और दूसरों की सहायता करने वाली लड़की थी। दूसरी ओर मंजरी गरीब नहीं थी पर ईर्ष्यालु और डरपोक थी। तुम्हारे विचार से असली गरीब कौन है?

(ख) तुमने अपने आस-पास अमीर और गरीब, दोनों तरह के लोग देखे होंगे। तुम्हारे विचार से गरीबी के क्या कारण हो सकते हैं?

(ग) अमीरी और गरीबी के अंतर को कैसे दूर किया जा सकता है? कुछ उपाय सुझाओ।

Answer:

(क) हमारे विचार से असली गरीब मंजरी थी। जो मनुष्य असहाय और डरपोक होता है, वह गरीब कहलाता है। जिसको स्वयं की रक्षा के लिए दूसरों पर निर्भर होना पड़े सही मायनों में वही व्यक्ति गरीब है। मंजरी को स्वयं पर अभिमान था परन्तु जब वह लहरों की चपेट में आई तब उसका अभिमान चूर हो गया। अतः वही असली में गरीब कहलाएगी।

(ख) हमारे विचार से अशिक्षा तथा धन का अभाव गरीबी के सबसे बड़े कारण हैं। मनुष्य अशिक्षित होता है, तो उसे अच्छी नौकरी नहीं मिलती। इस कारण उसे मजदूरी करनी पड़ती है। मजदूरी से बहुत कम पैसे मिलते हैं इसलिए धन का अभाव बना रहता है। यही कारण हैं कि मनुष्य गरीब रहता है।

(ग) अमीरी और गरीबी के अंतर को इस प्रकार से दूर किया जा सकता है-

(1) शिक्षा का प्रसार होना चाहिए।

(2) सरकार को देश में गरीबों के उत्थान के लिए ज़रुरी कदम उठाने चाहिए।

(3) गरीबों के वेतन में वृद्धि करनी चाहिए।

(4) अमीरों से अधिक कर लेना चाहिए।

(5) सरकार को चाहिए कि ऐसे प्रयास करे जिससे गरीबों के बच्चों को अच्छे विद्यालयों में शिक्षा प्राप्त करने का अधिकार प्राप्त हो।

Question 1:

(क) क्या तुम्हारा जन्मदिन मनाया जाता है?

(ख) तुम्हारे कितने दोस्तों और संबंधियों का जन्मदिन मनाया जाता है और कितनों का नहीं मनाया जाता?

Answer:

(क) हाँ मेरा जन्मदिन मनाया जाता है।

(ख) मेरे भईया, दीदी, मित्रों इत्यादि का जन्मदिन मनाया जाता है।

मेरे माता-पिताजी, दादा-दादी, नानी-नानी का जन्मदिन नहीं मनाया जाता है।

(नोट: विद्यार्थी इन प्रश्नों का उत्तर अपने व्यक्तिगत अनुभवों द्वारा देने का प्रयास करें।)

Page No 11:

Question 1:

(क) हर्ष का पिता समुद्र के किनारे रहता था। वह तरह-तरह के खिलौने एवं मालाएँ तैयार कर पास के बड़े नगर में बेच आता था। तुम अपने आस-पास के कुछ ऐसे ही लोगों के बारे में जानकारी प्राप्त करो। वे किन-किन चीजों से क्या-क्या बनाते हैं?

(ख) समुद्र से सीपी, कौड़ी, शंख, पत्थर आदि प्राप्त होते हैं। पता करो उससे और क्या-क्या चीज़ें प्राप्त होती हैं जो मनुष्य के लिए उपयोगी हैं? इसकी एक सूची बनाओ।

(ग) हर्ष और कनक ने मंजरी को समुद्र से निकाला। इसके बाद उन्होंने मंजरी को प्राथमिक उपचार दिया। पता करो तुम कौन से प्राथमिक उपचार करोगे, यदि

– किसी का हाथ गर्म चीज़ से जल जाए

– पैर में काँच घुस जाए

– कोई ज़हरीला जंतु काट ले

Answer:

(क) 1. कुम्हार मिट्टी से कई प्रकार के घड़े, खिलौने, फूलदान, प्याले इत्यादि बनाते हैं।

2. एक आंटी पुराने कपड़ों से विभिन्न तरह के सुन्दर गलीचे, बैग और पायदान बनाती हैं।

3. एक भईया पुरानी चूड़ियों के प्रयोग से सुंदर सजाने की वस्तुएँ बनाते हैं।

(नोट: बच्चे अपने आस-पास पता करें और दी गई जानकारी में स्वयं भी कुछ जोड़ें।)

(ख) 1. नमक – यह खाना बनाने के काम आता है।

2. मोती – यह आभूषण बनाने और औषधि बनाने के काम आता है।

3. पेट्रोल – यह एक तरल पदार्थ हैं जो विभिन्न प्रकार के वाहनों को चलाने के काम आता है।

4. मछलियाँ – यह घर में रखने और खाने के काम आती है।

5. समुद्री मूंगा –  यह मछली घर में सजाने के काम आता है।

(ग) 1. किसी का हाथ गर्म चीज़ से जल जाए – बर्फ़ मलेगें या फिर ठंडे पानी के नीचे हाथ रख देगें। जल्दी से बरनाल मलहम लगाएँगें। इसके बाद तुरंत डॉक्टर के पास जाएँगे।

2. पैर में काँच घुस जाए – उसे किसी कुर्सी पर बैठाकर काँच निकालने का प्रयास करेंगे। काँच निकालने के बाद घाव को डेटॉल लगाकर साफ़ करेगें। उसके बाद उसमें मलहम लगाकर पट्टी कर देगें यदि इसके बाद भी खून नहीं रुकेगा तो डॉक्टर के पास ले जाएँगे। टिटनेस का इंजेक्शन अवश्य लगवाएँगे।

3. कोई जहरीला जंतु काट ले – उस स्थान को साबुन से अच्छी तरह धोएँगें और घाव को ढक देगें। तुरन्त डॉक्टर के पास ले जाकर रेबिस का इंजेक्शन लगवाएँगें।

Question 1:

भारत के मानचित्र को देखो। भारत तीन दिशाओं से समुद्र से घिरा है। उन तीनों दिशाओं के नाम मानचित्र में भरो। समुद्र के पास वाले राज्यों के नाम भी भरो।

Answer:

Question 1:

‘उसके पिता एक सुंदर-सा खिलौना बनाने में लगे हैं।’इस वाक्य में ‘सुंदर-सा’ लगाकर वाक्य बनाया गया है। तुम भी साधारण, बड़ा, छोटा, लंबा, गोल, चौकोर और त्रिकोण शब्द में सा, से या सी का प्रयोग कर वाक्य बनाओ।

Answer:

(क) साधारण- मेरा घर साधारण-सा है।

(ख) बड़ा- मुझे बड़ा-सा पिज़ा खाना है।

(ग) लंबा- मुझे लंबा-सा भूत दिखा।

(घ) गोल- मेरे पास गोल-सा छल्ला है।

(ङ) चौकोर- मुझे चौकोर-सी आकृति बनानी है।

(च) त्रिकोण- त्रिकोण-से कागज़ काटने हैं।

(छ) छोटा- मेरा घर छोटा-सा है।

 

NCERT Solutions for Class 7 Hindi Chapters

बाल महाभारत

वसंत, भाग 2

दूर्वा, भाग 2

NCERT Solutions for Class 7: