NCERT Solutions for Class 8 Hindi Chapter 6 – सागर यात्रा (यात्रा वृत्तांत)

  • Chapter 6 – सागर यात्रा (यात्रा वृत्तांत)

Page No 41:

Question 1:

(क) सागर यात्रा में नौका को सँभालने के लिए हर समय एक व्यक्ति की ज़रूरत थी। क्यों?

(ख) वे लोग समुद्र की यात्रा कर रहे थे। समुद्र यात्रा में भी उन्हें पानी की समस्या क्यों हुई?

Answer:

(क) सागर यात्रा में नौका सम्भालने के लिए हर समय एक व्यक्ति की आवश्यकता होती है ताकि वह उसका चक्का सम्भाले रखे और द्वीपों तथा ह्वेल मछलियों पर नज़र रखे।

(ख) समुद्र का पानी खारा होता है न तो पीने योग्य होता है और न ही नहाने योग्य। नहाने से बदन में चिपचिपाहट हो जाती है। अत: समुद्र में यात्रा करते समय प्रर्याप्त मात्रा में पानी होना चाहिए।

Question 2:

हम सब इस अभियान के खतरों को जानते थे।

समुद्री यात्रा में उन यात्रियों को कौनकौन से खतरों और परेशानियों का सामना करना पड़ा था?

Answer:

समुद्री यात्रा में सबसे ज़्यादा परेशानी पानी तथा ह्वेल मछलियों की थी। फिर तूफ़ानों, तेज़ हवाओं का खतरा भी रहता है। तूफ़ान में एक बार जहाज़ दूर बहकर चला गया तो उन्हें लगा, उनकी नौका चट्टान से टकराकर टूट जाएगी। उनके सारे रक्षक उपकरण भी खो गए। 15 दिनों के लिए उनका रेडियो सर्म्पक टूट गया। समझा गया कि ‘तृष्णा’ लापता हो गई है। परन्तु फिर हम अपनी राह पहुँचने में सफल हो गए। इस बीच कई बार साथी समुद्र में भी गिर गए। उन्हें नौका में खींचा गया।

Question 3:

“एक सदस्य माँ की भूमिका निभाता”

(i)नौका पर ‘माँ’ की भूमिका निभाने वाला व्यक्ति कौन-कौन से काम करता था?

(ii)तुम्हारे विचार से उन कामों को माँ के कामों की उपमा क्यों दी गई होगी?

(iii)क्या तुमने कभी किसी के लिए ‘माँ की भूमिका’ निभाई है? यदि हाँ, तो बताओ

(क) तब तुमने कौन-कौन से काम किए थे?

(ख) वे काम क्यों और किसलिए किए थे?

(iv)तुम्हारी माँ या घर का अन्य कोई सदस्य सुबह उठने से लेकर रात को सोने तक कौन-कौन से काम करता है? सूची बनाओ।

Answer:

(i)नौका पर माँ की भूमिका निभाने वाला व्यक्ति खाना पकाने, बर्तन माँजने, शौचालय की सफ़ाई, नौका की सफ़ाई आदि सभी काम करता था।

(ii)हमारे विचार से माँ की उपमा इसलिए दी गई है क्योंकि सबकी देखभाल एक माँ ही कर सकती है और यह काम भी ऐसा ही था।

(iii)(क) माँ और पिताजी को रोटी परोसी।घर के बर्तन भी धोए। उनकी दवा-पानी की पूरी ज़िम्मेदारी  निभाई।घर में साफ़-सफ़ाई का भी काम किया है।

(ख) जब एक बार माँ-पिताजी की तबीयत खराब हुई तो घर पर और कोई नहीं था इसलिए ये सब काम करने पड़े। माँ और पिताजी की ऐसी स्थिति देखकर मुझे परेशानी और दुख हुआ था इसलिए ये काम मैंने किए।

(iv) हमारी माँ सुबह उठकर सफ़ाई करती हैं, कपड़े धोती हैं, नहाती हैं, पूजा पाठ करती हैं, खाना बनाती हैं, हमें तैयार करती हैं, हमारे जाने के बाद दोपहर का खाना बनाने में जुट जाती हैं, हमारे आने पर हमारा मुँह हाथ धुलवाती हैं, हमें खाना परोसती हैं, दोपहर के बर्तन धोती हैं, हमें पढ़ाती हैं, शाम को हमारे साथ बाग में जाती हैं, जहाँ वे हमारे साथ खेलती भी हैं, बाग से आते हुए वह सब्जी लाती हैं, घर आकर रात का खाना बनाती हैं, सबको खाना खिलाने के बाद, रसोईघर की साफ़-सफ़ाई करके ही सोती हैं। ये सभी काम वह हमारे लिए हमेशा करती हैं।

Question 4:

सागर के यात्रियों को पानी के कारण बहुत परेशानी होती थी। बताओ–

(क) उन्हें पानी के कारण क्या-क्या परेशानियाँ हुई?

(ख) क्या तुम्हारे आसपास भी पानी की समस्या होती है, उसके बारे में बताओ।

(ग) उस समस्या का समाधान कैसे किया जा सकता है?

Answer:

(क) उन्हें नहाने को नहीं मिला, पीने के पानी की भी समस्या थी।

(ख) हमारे यहाँ कभी-कभी पानी बिल्कुल चला जाता है। उस समय पीने, नहाने, खाना बनाने के लिए पानी नहीं होता। अक्सर पानी भर कर रखना पड़ता है परन्तु वह भी कम हो जाता है। इधर-उधर से मांगना पड़ता है या फिर खरीदना पड़ता है।

(ग) पानी को बेकार न बहाएँ। ज़रूरत के हिसाब से ही खर्च करें। सड़कों पर टूटे हुए पाइप की मरम्मत के लिए विभाग पर ज़ोर डालें। इसके अलावा पानी आने के समय उसे स्टोर करके रखें।

Question 5:

तुमने अभी दस भारतीय यात्रियों की एक अनूठी यात्रा की कहानी पढ़ी, तुम भी अपनी या किसी अन्य व्यक्ति की एक यात्रा के बारे में बताओ। तुम चाहो तो ये बातें बता सकते हो–

(क) वह यात्रा कहाँ की थी? कितने दिनों की थी? यात्रा कैसे की?

(ख) उसमें कौन-कौन सी समस्याएँ आईं?

(ग) उन समस्याओं को कैसे दूर किया गया?

(घ) उस यात्रा में किन-किन लोगों से मिले?

(ङ) कौन-कौन सी चीज़ें, पेड़-पौधे आदि पहली बार देखे?

Answer:

(क) हमने दिल्ली से मुम्बई, पूना, नासिक, शिरडी की यात्रा की। ये यात्रा करीब 15 दिन की थी। दिल्ली से मुम्बई रेल से पहुँचे।

(ख) रेल के टिकट बहुत ही कठिनाई से मिले। एक बार तो लगा वापस लौटना पड़ेगा पर किसी तरह टिकट मिल गए और हमने यात्रा शुरू की। मुम्बई पहुँचने पर देखा कि बारिश हो रही है। जगह-जगह पानी भर गया था।

(ग) किसी तरह पूना पहुँचे, फिर पूना से नासिक गए। एक ही दिन में नासिक और शिरडी की यात्रा की। पूरी रात  बस से सफर किया जो बड़ा खतरनाक लग रहा था क्योंकि बारिश के दिन थे। सड़के गीली व खाली थीं। अत्यधिक वर्षा के कारण पानी भरा हुआ था। सड़कें टूट  गई थीं,  जिससे एक्सीडेन्ट होने का भी खतरा बना हुआ था। परन्तु जैसे-तैसे भगवान का नाम लेकर यात्रा पूरी करके लौट आए और चैन की सांस ली।

(घ) उस यात्रा में अपने कई रिश्तेदारों से मिले। कुछ ऐसे लोग भी थे जो पहली बार मिले। परन्तु उनसे अच्छी खासी दोस्ती हो गई।

(ङ) पहली बार पहाड़ों की चित्रकारी देखी, मन्दिर देखे, पहाड़ों पर बने शिवलिंग देखे। यह बहुत ही मनोहर दृश्य था।

Page No 42:

Question 6:

‘बंदरगाह’ समुद्र के किनारे की वह जगह होती है जहाँ पानी के जहाज़, नौकाएँ आदि ठहरते हैं। पता लगाओ इन जगहों पर क्या होता है–

(क) अस्तबल

(ख) हवाई-अड्डा

(ग) पोस्ट-ऑफिस

(घ) अस्पताल

(ङ) न्यायालय

(च) बाज़ार

Answer:

(क)

अस्तबल

घोड़े रखने की जगह।

(ख)

हवाई-अड्डा

जहाँ हवाई जहाज़ आकर रूकते हैं।

(ग)

पोस्ट-ऑफिस

इस स्थान पर चिट्टियाँ आदि डाले जाते हैं व टिकटें मिलती हैं।

(घ)

अस्पताल

यहाँ रोगियों का इलाज होता है।

(ङ)

न्यायालय

यहाँ कानूनी कार्यवाही होती है, न्याय मिलता है।

(च)

बाज़ार

यहाँ से हम सभी वस्तुएँ खरीदते और बेचते हैं।

Question 7:

‘तृष्णा’ को गणतंत्र दिवस परेड में शामिल किया गया था। आपस में चर्चा करके नीचे लिखे प्रश्नों के उत्तर खोजो–

(क) गणतंत्र दिवस किसे कहते हैं? यह किस दिन मनाया जाता है?

(ख) गणतंत्र दिवस के दिन क्या-क्या कार्यक्रम होते हैं?

(ग) दूरदर्शन या आकाशवाणी पर गणतंत्र दिवस परेड देखकर/सुनकर उसके बारे में कुछ पंक्तियाँ लिखो।

Answer:

(क) गणतंत्र दिवस (26 जनवरी, 1950) के दिन हमारा संविधान बना था। भारत एक गणतंत्र अर्थात जनता का जनता के लिए जनता द्वारा बनाया गया राज्य है। यह दिन 26 जनवरी को प्रत्येक वर्ष धूम धाम से मनाया जाता है।

(ख) गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रपति भवन से सैनिक परेड, अस्त्रों-शस्त्रों से युक्त झांकियाँ, बच्चों के खेलकूद, नाच-गाने, हमारे देश के विभिन्न स्थानों की झलक के रूप में विभिन्न झांकियाँ आदि निकलते हैं। राष्ट्रपति यहाँ वीर सैनिकों और शहिदों के परिवारवालों को पदक देकर सम्मानित करते हैं व सलामी देते हैं। हवाई जहाज़ द्वारा रंगों से आसमान में तिरंगा बनाया जाता है।

(ग) इस प्रश्न का उत्तर (ख) में ही है। दूरदर्शन या आकाशवाणी पर गणतंत्र दिवस परेड के बारे में यही सारी बातें बताई जाती हैं।

Question 8:

“इस कठिन दिनचर्या के कारण शतरंज खेलने के लिए समय ही नहीं मिलता था।”

यदि उन नाविकों के पास समय होता तो वे नौका पर कौन-कौन से खेल खेल सकते थे? सूची बनाओ–

(क)

शतरंज

(ख)

…………….

(ग)

…………….

(घ)

…………….

Answer:

(क)

शतरंज

(ख)

लूडो

(ग)

कैरम

(घ)

ताश

(ङ)

पज्ज़ल गेम

Page No 43:

Question 9:

‘दिन में एक बार हम नौका पर ‘खुशी का घंटा’ बिताते’

यदि तुम्हें स्कूल में ‘खुशी का घंटा’ बिताने का मौका मिले, तो तुम उस एक घंटे में कौन-कौन से काम करना चाहोगे?

Answer:

यदि हमें स्कूल में ‘खुशी का घंटा’ बिताने का मौका मिले, तो हम उस एक घंटे में खूब खेलेंगे और दोस्तों से बातें करेंगे।

Question 10:

“हम सब इस अभिमान के खतरों को जानते थे, हमें यह भी ज्ञात था कि शायद हम कभी वापस न लौट सकें।”

वे दस नाविक इतनी खतरनाक यात्रा के लिए क्यों निकले होंगे? आपस में चर्चा करो।

Answer:

उन दस नाविकों में अपने देश के नाम व गौरव का जज़्बा था। वे चाहते थे कि ‘तृष्णा’ नामक भारतीय जहाज की विश्व में ख्याति हो। इसी देशभक्ति के जज़्बे ने उनकी हिम्मत बढ़ाई और वे इस खतरनाक यात्रा के लिए आगे बढ़े।

Question 11:

तेज़ हवाओं के कारण कभी-कभी उन नाविकों के कपड़े उड़/खो जाते थे। मान लो, ऐसा ही एक मोज़ा तुम्हें अपनी कहानी सुनाना चाहता है। वह क्या-क्या बातें बताएगा, कल्पना से उसकी कहानी पूरी करो–

मैं एक मोज़ा हूँ। वैसे तो मैं हमेशा अपने भाई के साथ रहता हूँ।

………………………………………………………………………………………………………………

………………………………………………………………………………………………………………

………………………………………………………………………………………………………………

………………………………………………………………………………………………………………

………………………………………………………………………………………………………………

Answer:

मैं एक मोज़ा हूँ। वैसे तो मैं हमेशा अपने भाई के साथ रहता हूँ। अक्सर लोग मुझे पहन कर जब उतारते हैं तो जूते में डाल देते हैं फिर पहन लेते हैं। लेकिन जब मैं बिल्कुल ही खराब व बदबूदार हो जाता हूँ तो धो दिया जाता हूँ। धोकर सुखाते समय ध्यान रखा जाता है कि मैं अपने भाई के साथ ही रहूँ। एक दिन इसी तरह मुझे धोने के लिए मशीन में डाला गया। धुल तो गया पर बाहर नहीं निकल पाया। मेरा भाई मुझसे बिछड़ कर बाहर सूखने चला गया। मैं परेशान हो गया, अब मेरा क्या होगा, मेरे भाई का क्या होगा? तभी 1 घंटे बाद मालकिन ने मशीन साफ़ की तो मुझे पाया और बड़बड़ाती हुई मुझे भी सुखाने चली गई। तब तक मेरा भाई सूखकर अन्दर आ चुका था। मैं सूखता रहा परन्तु किसी ने नहीं उठाया। 2 दिन बाद किसी ने मुझे उठाया और झाड़ने के काम में लगा दिया। और फिर गंदा होने पर कूड़े के ढेर में डाल दिया गया। मैं अपने भाई से अलग हो गया और आँसू बहाता कूड़े के ढेर में पड़ा हूँ।

Question 12:

“जो लोग चौकसी से हटते, वे अपने कपड़े बदलते, खाना खाते, पढ़ते, रेडियो सुनते और अपनी ड्यूटी के अन्य कार्य जैसे रेडियो की जाँच, इंजन की जाँच तथा व्यंजन सूची के अनुसार भोजन बनाने के लिए राशन देने का काम निबटाते।”

इस वाक्य को कई छोटे-छोटे वाक्यों के रूप में भी लिखा जा सकता है जैसे–

जो लोग चौकसी से हटते, वे अपने कपड़े बदलते। वे खाना खाते, पढ़ते और रेडियो सुनते। वे अपनी ड्यूटी के अन्य कार्य करते जैसे रेडियो की जाँच और इंजन की जाँच। वे व्यंजन सूची के अनुसार भोजन बनाने के लिए राशन देने का काम निबटाते।

तुम इसी प्रकार नीचे लिखे वाक्य को छोट-छोटे वाक्यों में बदलो–

प्रथम भारतीय नौका अभियान दल विश्व की परिक्रमा करके 54,000 किलोमीटर की दूरी मापकर 470 दिन की ऐतिहासिक यात्रा के बाद 10 जनवरी, 1987 को 6.00 बजे मुंबई बंदरगाह पहुँचा।

Answer:

प्रथम भारतीय नौका अभियान दल विश्व की परिक्रमा के लिए गया। उसने 54,000 किलोमीटर की दूरी की परिक्रमा की। ये परिक्रमा 470 दिन में हुई। ये एक ऐतिहासिक यात्रा थी। यात्रा पूरी करके ये 10 जनवरी, 1987 को मुम्बई पहुँचा। इस समय घड़ी के अनुसार 6 बजे थे।

Page No 44:

Question 13:

अ,          सु

ऊपर बॉक्स में दिए गए उपसर्ग लगाकर सार्थक शब्द बनाओ।

(क)

सफल

+

………………

=

………………

(ख)

स्वागत

+

………………

=

………………

(ग)

विश्वास

+

………………

=

………………

(घ)

कन्या

+

………………

=

………………

(ङ)

पुत्र

+

………………

=

………………

Answer:

(क)

सफल

+

=

असफल

(ख)

स्वागत

+

सु

=

सुस्वागत

(ग)

विश्वास

+

=

अविश्वास

(घ)

कन्या

+

सु

=

सुकन्या

(ङ)

पुत्र

+

सु

=

सुपुत्र

Question 14:

में,      ने,      को,      का,      के,      लिए,      से,      पर

तालिका में से यही शब्द चुनकर रिक्त स्थानों में भरो।

(क) सीमा …………….. फल खाए।

(ख) रोहित …………….. पेन नया है।

(ग) माँ-बच्चों …………….. मिठाई लाई।

(घ) हमने रस्सी …………….. कपड़े सुखाए।

(ङ) मैंने बैग …………….. किताबें रखीं।

(च) पौधों …………….. गमलों में रखो।

(छ) केरल जम्मू …………….. बहुत दूर है।

Answer:

(क) सीमा ने फल खाए।

(ख) रोहित का पेन नया है।

(ग) माँ-बच्चों के लिए मिठाई लाई।

(घ) हमने रस्सी पर कपड़े सुखाए।

(ङ) मैंने बैग में किताबें रखीं।

(च) पौधों को गमलों में रखो।

(छ) केरल जम्मू से बहुत दूर है।

Page No 41:

Question 1:

(क) सागर यात्रा में नौका को सँभालने के लिए हर समय एक व्यक्ति की ज़रूरत थी। क्यों?

(ख) वे लोग समुद्र की यात्रा कर रहे थे। समुद्र यात्रा में भी उन्हें पानी की समस्या क्यों हुई?

Answer:

(क) सागर यात्रा में नौका सम्भालने के लिए हर समय एक व्यक्ति की आवश्यकता होती है ताकि वह उसका चक्का सम्भाले रखे और द्वीपों तथा ह्वेल मछलियों पर नज़र रखे।

(ख) समुद्र का पानी खारा होता है न तो पीने योग्य होता है और न ही नहाने योग्य। नहाने से बदन में चिपचिपाहट हो जाती है। अत: समुद्र में यात्रा करते समय प्रर्याप्त मात्रा में पानी होना चाहिए।

Question 2:

हम सब इस अभियान के खतरों को जानते थे।

समुद्री यात्रा में उन यात्रियों को कौनकौन से खतरों और परेशानियों का सामना करना पड़ा था?

Answer:

समुद्री यात्रा में सबसे ज़्यादा परेशानी पानी तथा ह्वेल मछलियों की थी। फिर तूफ़ानों, तेज़ हवाओं का खतरा भी रहता है। तूफ़ान में एक बार जहाज़ दूर बहकर चला गया तो उन्हें लगा, उनकी नौका चट्टान से टकराकर टूट जाएगी। उनके सारे रक्षक उपकरण भी खो गए। 15 दिनों के लिए उनका रेडियो सर्म्पक टूट गया। समझा गया कि ‘तृष्णा’ लापता हो गई है। परन्तु फिर हम अपनी राह पहुँचने में सफल हो गए। इस बीच कई बार साथी समुद्र में भी गिर गए। उन्हें नौका में खींचा गया।

Question 3:

“एक सदस्य माँ की भूमिका निभाता”

(i)नौका पर ‘माँ’ की भूमिका निभाने वाला व्यक्ति कौन-कौन से काम करता था?

(ii)तुम्हारे विचार से उन कामों को माँ के कामों की उपमा क्यों दी गई होगी?

(iii)क्या तुमने कभी किसी के लिए ‘माँ की भूमिका’ निभाई है? यदि हाँ, तो बताओ

(क) तब तुमने कौन-कौन से काम किए थे?

(ख) वे काम क्यों और किसलिए किए थे?

(iv)तुम्हारी माँ या घर का अन्य कोई सदस्य सुबह उठने से लेकर रात को सोने तक कौन-कौन से काम करता है? सूची बनाओ।

Answer:

(i)नौका पर माँ की भूमिका निभाने वाला व्यक्ति खाना पकाने, बर्तन माँजने, शौचालय की सफ़ाई, नौका की सफ़ाई आदि सभी काम करता था।

(ii)हमारे विचार से माँ की उपमा इसलिए दी गई है क्योंकि सबकी देखभाल एक माँ ही कर सकती है और यह काम भी ऐसा ही था।

(iii)(क) माँ और पिताजी को रोटी परोसी।घर के बर्तन भी धोए। उनकी दवा-पानी की पूरी ज़िम्मेदारी  निभाई।घर में साफ़-सफ़ाई का भी काम किया है।

(ख) जब एक बार माँ-पिताजी की तबीयत खराब हुई तो घर पर और कोई नहीं था इसलिए ये सब काम करने पड़े। माँ और पिताजी की ऐसी स्थिति देखकर मुझे परेशानी और दुख हुआ था इसलिए ये काम मैंने किए।

(iv) हमारी माँ सुबह उठकर सफ़ाई करती हैं, कपड़े धोती हैं, नहाती हैं, पूजा पाठ करती हैं, खाना बनाती हैं, हमें तैयार करती हैं, हमारे जाने के बाद दोपहर का खाना बनाने में जुट जाती हैं, हमारे आने पर हमारा मुँह हाथ धुलवाती हैं, हमें खाना परोसती हैं, दोपहर के बर्तन धोती हैं, हमें पढ़ाती हैं, शाम को हमारे साथ बाग में जाती हैं, जहाँ वे हमारे साथ खेलती भी हैं, बाग से आते हुए वह सब्जी लाती हैं, घर आकर रात का खाना बनाती हैं, सबको खाना खिलाने के बाद, रसोईघर की साफ़-सफ़ाई करके ही सोती हैं। ये सभी काम वह हमारे लिए हमेशा करती हैं।

Question 4:

सागर के यात्रियों को पानी के कारण बहुत परेशानी होती थी। बताओ–

(क) उन्हें पानी के कारण क्या-क्या परेशानियाँ हुई?

(ख) क्या तुम्हारे आसपास भी पानी की समस्या होती है, उसके बारे में बताओ।

(ग) उस समस्या का समाधान कैसे किया जा सकता है?

Answer:

(क) उन्हें नहाने को नहीं मिला, पीने के पानी की भी समस्या थी।

(ख) हमारे यहाँ कभी-कभी पानी बिल्कुल चला जाता है। उस समय पीने, नहाने, खाना बनाने के लिए पानी नहीं होता। अक्सर पानी भर कर रखना पड़ता है परन्तु वह भी कम हो जाता है। इधर-उधर से मांगना पड़ता है या फिर खरीदना पड़ता है।

(ग) पानी को बेकार न बहाएँ। ज़रूरत के हिसाब से ही खर्च करें। सड़कों पर टूटे हुए पाइप की मरम्मत के लिए विभाग पर ज़ोर डालें। इसके अलावा पानी आने के समय उसे स्टोर करके रखें।

Question 5:

तुमने अभी दस भारतीय यात्रियों की एक अनूठी यात्रा की कहानी पढ़ी, तुम भी अपनी या किसी अन्य व्यक्ति की एक यात्रा के बारे में बताओ। तुम चाहो तो ये बातें बता सकते हो–

(क) वह यात्रा कहाँ की थी? कितने दिनों की थी? यात्रा कैसे की?

(ख) उसमें कौन-कौन सी समस्याएँ आईं?

(ग) उन समस्याओं को कैसे दूर किया गया?

(घ) उस यात्रा में किन-किन लोगों से मिले?

(ङ) कौन-कौन सी चीज़ें, पेड़-पौधे आदि पहली बार देखे?

Answer:

(क) हमने दिल्ली से मुम्बई, पूना, नासिक, शिरडी की यात्रा की। ये यात्रा करीब 15 दिन की थी। दिल्ली से मुम्बई रेल से पहुँचे।

(ख) रेल के टिकट बहुत ही कठिनाई से मिले। एक बार तो लगा वापस लौटना पड़ेगा पर किसी तरह टिकट मिल गए और हमने यात्रा शुरू की। मुम्बई पहुँचने पर देखा कि बारिश हो रही है। जगह-जगह पानी भर गया था।

(ग) किसी तरह पूना पहुँचे, फिर पूना से नासिक गए। एक ही दिन में नासिक और शिरडी की यात्रा की। पूरी रात  बस से सफर किया जो बड़ा खतरनाक लग रहा था क्योंकि बारिश के दिन थे। सड़के गीली व खाली थीं। अत्यधिक वर्षा के कारण पानी भरा हुआ था। सड़कें टूट  गई थीं,  जिससे एक्सीडेन्ट होने का भी खतरा बना हुआ था। परन्तु जैसे-तैसे भगवान का नाम लेकर यात्रा पूरी करके लौट आए और चैन की सांस ली।

(घ) उस यात्रा में अपने कई रिश्तेदारों से मिले। कुछ ऐसे लोग भी थे जो पहली बार मिले। परन्तु उनसे अच्छी खासी दोस्ती हो गई।

(ङ) पहली बार पहाड़ों की चित्रकारी देखी, मन्दिर देखे, पहाड़ों पर बने शिवलिंग देखे। यह बहुत ही मनोहर दृश्य था।

Page No 42:

Question 6:

‘बंदरगाह’ समुद्र के किनारे की वह जगह होती है जहाँ पानी के जहाज़, नौकाएँ आदि ठहरते हैं। पता लगाओ इन जगहों पर क्या होता है–

(क) अस्तबल

(ख) हवाई-अड्डा

(ग) पोस्ट-ऑफिस

(घ) अस्पताल

(ङ) न्यायालय

(च) बाज़ार

Answer:

(क)

अस्तबल

घोड़े रखने की जगह।

(ख)

हवाई-अड्डा

जहाँ हवाई जहाज़ आकर रूकते हैं।

(ग)

पोस्ट-ऑफिस

इस स्थान पर चिट्टियाँ आदि डाले जाते हैं व टिकटें मिलती हैं।

(घ)

अस्पताल

यहाँ रोगियों का इलाज होता है।

(ङ)

न्यायालय

यहाँ कानूनी कार्यवाही होती है, न्याय मिलता है।

(च)

बाज़ार

यहाँ से हम सभी वस्तुएँ खरीदते और बेचते हैं।

Question 7:

‘तृष्णा’ को गणतंत्र दिवस परेड में शामिल किया गया था। आपस में चर्चा करके नीचे लिखे प्रश्नों के उत्तर खोजो–

(क) गणतंत्र दिवस किसे कहते हैं? यह किस दिन मनाया जाता है?

(ख) गणतंत्र दिवस के दिन क्या-क्या कार्यक्रम होते हैं?

(ग) दूरदर्शन या आकाशवाणी पर गणतंत्र दिवस परेड देखकर/सुनकर उसके बारे में कुछ पंक्तियाँ लिखो।

Answer:

(क) गणतंत्र दिवस (26 जनवरी, 1950) के दिन हमारा संविधान बना था। भारत एक गणतंत्र अर्थात जनता का जनता के लिए जनता द्वारा बनाया गया राज्य है। यह दिन 26 जनवरी को प्रत्येक वर्ष धूम धाम से मनाया जाता है।

(ख) गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रपति भवन से सैनिक परेड, अस्त्रों-शस्त्रों से युक्त झांकियाँ, बच्चों के खेलकूद, नाच-गाने, हमारे देश के विभिन्न स्थानों की झलक के रूप में विभिन्न झांकियाँ आदि निकलते हैं। राष्ट्रपति यहाँ वीर सैनिकों और शहिदों के परिवारवालों को पदक देकर सम्मानित करते हैं व सलामी देते हैं। हवाई जहाज़ द्वारा रंगों से आसमान में तिरंगा बनाया जाता है।

(ग) इस प्रश्न का उत्तर (ख) में ही है। दूरदर्शन या आकाशवाणी पर गणतंत्र दिवस परेड के बारे में यही सारी बातें बताई जाती हैं।

Question 8:

“इस कठिन दिनचर्या के कारण शतरंज खेलने के लिए समय ही नहीं मिलता था।”

यदि उन नाविकों के पास समय होता तो वे नौका पर कौन-कौन से खेल खेल सकते थे? सूची बनाओ–

(क)

शतरंज

(ख)

…………….

(ग)

…………….

(घ)

…………….

Answer:

(क)

शतरंज

(ख)

लूडो

(ग)

कैरम

(घ)

ताश

(ङ)

पज्ज़ल गेम

Page No 43:

Question 9:

‘दिन में एक बार हम नौका पर ‘खुशी का घंटा’ बिताते’

यदि तुम्हें स्कूल में ‘खुशी का घंटा’ बिताने का मौका मिले, तो तुम उस एक घंटे में कौन-कौन से काम करना चाहोगे?

Answer:

यदि हमें स्कूल में ‘खुशी का घंटा’ बिताने का मौका मिले, तो हम उस एक घंटे में खूब खेलेंगे और दोस्तों से बातें करेंगे।

Question 10:

“हम सब इस अभिमान के खतरों को जानते थे, हमें यह भी ज्ञात था कि शायद हम कभी वापस न लौट सकें।”

वे दस नाविक इतनी खतरनाक यात्रा के लिए क्यों निकले होंगे? आपस में चर्चा करो।

Answer:

उन दस नाविकों में अपने देश के नाम व गौरव का जज़्बा था। वे चाहते थे कि ‘तृष्णा’ नामक भारतीय जहाज की विश्व में ख्याति हो। इसी देशभक्ति के जज़्बे ने उनकी हिम्मत बढ़ाई और वे इस खतरनाक यात्रा के लिए आगे बढ़े।

Question 11:

तेज़ हवाओं के कारण कभी-कभी उन नाविकों के कपड़े उड़/खो जाते थे। मान लो, ऐसा ही एक मोज़ा तुम्हें अपनी कहानी सुनाना चाहता है। वह क्या-क्या बातें बताएगा, कल्पना से उसकी कहानी पूरी करो–

मैं एक मोज़ा हूँ। वैसे तो मैं हमेशा अपने भाई के साथ रहता हूँ।

………………………………………………………………………………………………………………

………………………………………………………………………………………………………………

………………………………………………………………………………………………………………

………………………………………………………………………………………………………………

………………………………………………………………………………………………………………

Answer:

मैं एक मोज़ा हूँ। वैसे तो मैं हमेशा अपने भाई के साथ रहता हूँ। अक्सर लोग मुझे पहन कर जब उतारते हैं तो जूते में डाल देते हैं फिर पहन लेते हैं। लेकिन जब मैं बिल्कुल ही खराब व बदबूदार हो जाता हूँ तो धो दिया जाता हूँ। धोकर सुखाते समय ध्यान रखा जाता है कि मैं अपने भाई के साथ ही रहूँ। एक दिन इसी तरह मुझे धोने के लिए मशीन में डाला गया। धुल तो गया पर बाहर नहीं निकल पाया। मेरा भाई मुझसे बिछड़ कर बाहर सूखने चला गया। मैं परेशान हो गया, अब मेरा क्या होगा, मेरे भाई का क्या होगा? तभी 1 घंटे बाद मालकिन ने मशीन साफ़ की तो मुझे पाया और बड़बड़ाती हुई मुझे भी सुखाने चली गई। तब तक मेरा भाई सूखकर अन्दर आ चुका था। मैं सूखता रहा परन्तु किसी ने नहीं उठाया। 2 दिन बाद किसी ने मुझे उठाया और झाड़ने के काम में लगा दिया। और फिर गंदा होने पर कूड़े के ढेर में डाल दिया गया। मैं अपने भाई से अलग हो गया और आँसू बहाता कूड़े के ढेर में पड़ा हूँ।

Question 12:

“जो लोग चौकसी से हटते, वे अपने कपड़े बदलते, खाना खाते, पढ़ते, रेडियो सुनते और अपनी ड्यूटी के अन्य कार्य जैसे रेडियो की जाँच, इंजन की जाँच तथा व्यंजन सूची के अनुसार भोजन बनाने के लिए राशन देने का काम निबटाते।”

इस वाक्य को कई छोटे-छोटे वाक्यों के रूप में भी लिखा जा सकता है जैसे–

जो लोग चौकसी से हटते, वे अपने कपड़े बदलते। वे खाना खाते, पढ़ते और रेडियो सुनते। वे अपनी ड्यूटी के अन्य कार्य करते जैसे रेडियो की जाँच और इंजन की जाँच। वे व्यंजन सूची के अनुसार भोजन बनाने के लिए राशन देने का काम निबटाते।

तुम इसी प्रकार नीचे लिखे वाक्य को छोट-छोटे वाक्यों में बदलो–

प्रथम भारतीय नौका अभियान दल विश्व की परिक्रमा करके 54,000 किलोमीटर की दूरी मापकर 470 दिन की ऐतिहासिक यात्रा के बाद 10 जनवरी, 1987 को 6.00 बजे मुंबई बंदरगाह पहुँचा।

Answer:

प्रथम भारतीय नौका अभियान दल विश्व की परिक्रमा के लिए गया। उसने 54,000 किलोमीटर की दूरी की परिक्रमा की। ये परिक्रमा 470 दिन में हुई। ये एक ऐतिहासिक यात्रा थी। यात्रा पूरी करके ये 10 जनवरी, 1987 को मुम्बई पहुँचा। इस समय घड़ी के अनुसार 6 बजे थे।

Page No 44:

Question 13:

अ,          सु

ऊपर बॉक्स में दिए गए उपसर्ग लगाकर सार्थक शब्द बनाओ।

(क)

सफल

+

………………

=

………………

(ख)

स्वागत

+

………………

=

………………

(ग)

विश्वास

+

………………

=

………………

(घ)

कन्या

+

………………

=

………………

(ङ)

पुत्र

+

………………

=

………………

Answer:

(क)

सफल

+

=

असफल

(ख)

स्वागत

+

सु

=

सुस्वागत

(ग)

विश्वास

+

=

अविश्वास

(घ)

कन्या

+

सु

=

सुकन्या

(ङ)

पुत्र

+

सु

=

सुपुत्र

Question 14:

में,      ने,      को,      का,      के,      लिए,      से,      पर

तालिका में से यही शब्द चुनकर रिक्त स्थानों में भरो।

(क) सीमा …………….. फल खाए।

(ख) रोहित …………….. पेन नया है।

(ग) माँ-बच्चों …………….. मिठाई लाई।

(घ) हमने रस्सी …………….. कपड़े सुखाए।

(ङ) मैंने बैग …………….. किताबें रखीं।

(च) पौधों …………….. गमलों में रखो।

(छ) केरल जम्मू …………….. बहुत दूर है।

Answer:

(क) सीमा ने फल खाए।

(ख) रोहित का पेन नया है।

(ग) माँ-बच्चों के लिए मिठाई लाई।

(घ) हमने रस्सी पर कपड़े सुखाए।

(ङ) मैंने बैग में किताबें रखीं।

(च) पौधों को गमलों में रखो।

(छ) केरल जम्मू से बहुत दूर है।

NCERT Solutions for Class 8 Hindi Chapters

भारत की खोज

वसंत, भाग-3

दूर्वा, भाग-3

NCERT Solutions for Class 8: